घर…

घर सिर्फ दीवारों का जमघट नहीं,

घर उसमें रहने वालों का ठिकाना भी है,

वो जो रूठ जाते हैं छोटी सी अनबन से,

थोड़े अपनेपन से उन्हें फिर मनाना भी है,

कभी दुआओं से मिलेगी हर काम में कामयाबी,

और कभी अपनी कोशिशों को आजमाना भी है;

तस्वीरों में कैद कर सकें जिंदगी भर के लिए,

ऐसी यादों को मिलकर साथ बनाना भी है,

घर सिर्फ दीवारों का जमघट नहीं,

घर उसमें रहने वालों का ठिकाना भी है!

(सोशल मीडिया से साभार)