झाबुआ/ राष्ट्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी संचार परिषद के सहयोग एवं उत्प्रेरण से मध्यप्रदेश के आदिवासी बहुल जिलों में वैज्ञानिक जागरूकता हेतु क्विज,  सक्रियता बढाने, स्‍थानीय सामग्री से पौष्टिक भोजन बनाने, कठपुतली शो, फिल्म शो, स्लोगन प्रतियोगिता, लोक गीत, विज्ञान मेला एवं अन्य गतिविधियों का आयोजन किया जा रहा है।

इसी के अंतर्गत झाबुआ जिले के आदिवासी विकासखण्ड रामा में वनजा इन्वायरमेंट एंड साइंस सेंटर सोसायटी द्वारा विज्ञान संगम का आयोजन 23-25 जनवरी को किया गया। कार्यक्रम में उपस्थित छात्र-छात्राओं ने विज्ञान स्लोगन लेखन, विज्ञान फिल्म शो, विज्ञान क्विज़, नुक्कड़ नाटक, विशेष रोग सिकल सेल एनीमिया की रोकथाम सम्बन्धी आदि गतिविधियों में बढ़चढ़ कर भागीदारी करते हुए कार्यक्रम का भरपूर आनंद लिया।

इस अवसर पर विशेष रूप से आमंत्रित स्रोत विद्वान इंजी. बीबीआर गाँधी ने छात्र छात्राओं को वस्तुओं के तीन आयाम का विज्ञान, 3डी फिल्म शो के दौरान समझाया साथ ही पर्यावरण संवर्धन की दिशा में आगे बढ़ने के लिए समन्वयक एम.एस.नरवरिया ने उन्हें पर्यावरण मित्र बनाने का काम किया। पर्यावरण असंतुलन या प्रदूषण के कारण हो रही परेशानियों को सहज तरीके से समझाया गया।

छात्र छात्राओं ने कठपुतलियों के नृत्य और लोक संगीत का भी भरपूर मज़ा लिया। कन्या शिक्षा परिसर प्राचार्य आयशा मैडम, हायर सेकेंडरी स्कूल प्रभारी प्राचार्य रमेश परमार एवं प्राचार्य कर्मेंद्र भूरा ने कहा कि इस तरह से विद्यार्थियों की समझ विकसित होती है। शिक्षक शिक्षिकाओं ने भी कार्यक्रम की सराहना करते हुए इसे शालेय विद्यार्थियों के लिये काफी उपयोगी निरूपित किया। अंत में विभिन्न गतिविधियों में अग्रणी रहे छात्र छात्राओं को पुरस्कृत किया गया।