भोपाल/ मध्‍यप्रदेश में कांग्रेस के पूर्व विधायक राजा पटेरिया के एक बयान से राजनीति में उबाल आ गया है। पटेरिया का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसे लेकर उन पर लोगों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्‍या के लिए कथित रूप से उकसाने का आरोप लगाया गया है। पुलिस ने पटेरिया के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

वायरल हुए वीडियो में पटेरिया कह रहे हैं- ‘’ये मोदी इलेक्‍शन खतम कर देगा, मोदी धर्म जाति भाषा के आधार पर बांट देगा… दलितों को, आदिवासियों को और अल्‍पसंख्‍यकों का जीवन खतरे में है… संविधान यदि बचाना है तो मोदी की हत्‍या के लिए तत्‍पर रहो, हत्‍या इन द सेंस हराने का काम…

पटेरिया के इस बयान के बाद से प्रदेश की राजनीति में बवाल हो गया है। मुख्‍यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और गृह मंत्री डॉ. नरोत्‍तम मिश्रा ने पटेरिया के बयान की तीखी आलोचना करते हुए उनके खिलाफ सख्‍त कानूनी कार्रवाई की बात की है।  

मुख्‍यमंत्री ने कहा कि- ‘’भारत जोड़ो यात्रा का ढोंग करने वालों की असलियत सामने आ रही है। माननीय मोदी जी जनता के दिलों में बसते हैं। संपूर्ण देश की श्रद्धा और आस्‍था के केंद्र हैं। कांग्रेस के लोग मैदान में उनसे मुकाबला नहीं कर पाते, इसलिए कांग्रेस के एक नेता मोदी जी की हत्‍या की बात कर रहे हैं। ये विद्वेष की पराकाष्‍ठा है। ये घृणा की अति है। कांग्रेस के असल भाव प्रकट हो रहे हैं। ऐसी चीजों को सहन नहीं किया जाएगा। एफआईआर की जा रही है और कानून अपना काम करेगा।‘’  

गृह मंत्री ने कहा- ”मैंने पटेरिया जी के बयान को सुना है और निश्चित तौर पर उससे यह स्पष्ट होता है कि अब यह महात्मा गांधी की कांग्रेस नहीं है, उसे तो इन्होंने आजादी के बाद ही खत्म कर दिया था, यह इटली की कांग्रेस है और इटली की मानसिकता मुसोलिनी वाली रहती है। यही कारण है कि कांग्रेस अध्यक्ष खड़गे जी मोदी जी को रावण बोल देते है, मणिशंकर अय्यर मोदी जी के लिए नीच जैसे शब्दों का इस्तेमाल करते है, इससे पहले सोनिया गांधी उन्हें मौत का सौदागर कहती है, दिग्विजय सिंह मोदी जी कि तुलना जनरल डायर से करते है, मधुसूदन मिस्त्री जी मोदी जी को औकात दिखाने की बात करते है। यह सब क्या है। यह गांधी जी की कांग्रेस के नेताओ के बयान तो हो ही नहीं सकते हैं। ये इटली की कांग्रेस के बयान हैं। वैसे भी राहुल बाबा कि यात्रा में जिस तरह स्वरा भास्कर, सुशांत सिंह और कन्हैया कुमार जी चल रहे हैं, यह इस बात की पुष्टि करता है कि पूरी कांग्रेस अब टुकड़े-टुकड़े मानसिकता वाली हो गयी है। हताश और निराश कांग्रेस अब भय और भ्रम फैलाने पर उतर आई है।‘’

उधर मामला बढ़ता देख पटेरिया ने भी सोशल मीडिया पर वीडियो जारी कर अपनी सफाई दी है। उन्‍होंने कहा कि- ‘’मैं गांधी को मानने वाला आदमी हूं, गांधी को मानने वाला आदमी हत्‍या की बात नहीं कर सकता। मेरा वीडियो गलत तरीके से पेश किया गया है। मेरे कहने का आशय ये था कि राजनीतिक चुनाव क्षेत्र में उनको पराजित करके देश का संविधान बचाओ। दलितों, अल्‍पसंख्‍यकों और आदिवासियों की रक्षा करने के लिए, बेरोजगारी हटाने के लिए मोदी को पराजित करना आवश्‍यक है… मेरा उद्देश्‍य हत्‍या करना नहीं था। मेरी बात को गलत तरीके से पेश किया गया है…’’

लेकिन इस बीच गृह मंत्री की ओर से पन्‍ना पुलिस अधीक्षक को दिए गए निर्देश के बाद पवई थाना पुलिस ने राजा पटेरिया के खिलाफ आईपीसी की धारा 451, 504, 505(1)(b), 505(1)(c), 506, 153b(1)(c) के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है।