भोपाल/कांग्रेस नेता राहुल गांधी की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये जाने के मामले ने तूल पकड़ लिया है। इस संबंध में छत्‍तीसगढ़ पुलिस ने शनिवार को मध्‍यप्रदेश भाजपा के मीडिया प्रभारी लोकेंद्र पाराशर के खिलाफ केस दर्ज किया था तो रविवार को भोपाल में भाजपा नेताओं की शिकायत पर कांग्रेस मीडिया विभाग के प्रमुख पीयूष बबेले और आईटी हेड अभय तिवारी के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर लिया गया। भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने इस संबंध में भोपाल के एमपीनगर स्थित क्राइम ब्रांच में शिकायत की थी और कहा था कि कांग्रेस के मीडिया सेल ने उक्‍त आपत्तिजनक और ‘देशद्रोही’ कंटेट सोशल मीडिया पर प्रसारित किया।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी एवं प्रदेश सह मीडिया प्रभारी नरेंद्र शिवाजी पटेल ने शिकायत में कहा कि कांग्रेस के नेता राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, कमलनाथ एवं संपूर्ण कांग्रेस पार्टी द्वारा भारत जोड़ो यात्रा की आड़ लेकर पूरे भारत में देशविरोधी कृत्य किए जा रहे हैं। यात्रा में पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाये जा रहे हैं, ताकि देश की लोकशांति भंग हो। भारत जोड़ो यात्रा एक बड़ा आपराधिक षडयंत्र है, जिससे देश की जनता के साथ छल किया जा रहा है। यात्रा के दौरान खंडवा में लगे पाकिस्‍तान जिंदाबाद के नारे से इसका असली उद्देश्‍य सामने आ गया है।

इस घटना की कांग्रेस पार्टी ने खुद ही वीडियो रिकॉर्डिंग की और उसे इंडियन नेशनल कांग्रेस मध्यप्रदेश के ट्विटर हेंडल पर 25 नवंबर को ट्वीट किया गया। मध्यप्रदेश कांग्रेस के मीडिया विभाग के प्रमुख पीयूष बबेले ने यह वीडियो अपने व्हाट्सएप ग्रुप में पत्रकारों को भी भेजा। बाद में इस ‘अपराध’ का पूरे देश में प्रसार होने का आभास होने पर कुछ देर बाद वह वीडियो डिलीट कर दिया गया।

भाजपा के नेताओं की शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता 1860 की धारा 153-बी, 504, 505 (1), 505 (2), 120-बी आदि के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया गया है। भाजपा की शिकायत में राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और कमलनाथ के विरुद्ध भी एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई है।