छिंदवाडा, 01 जूनः कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री महेशचन्द्र चौधरी द्वारा जिले के दो विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में डोर टू डोर सर्वे कार्य में लापरवाही बरतने पर 3 बूथ लेबल अधिकारी एवं सहायक अध्यापकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। निलंबन अवधि में दो सहायक अध्यापकों का मुख्यालय तहसील कार्यालय हर्रई और एक सहायक अध्यापक का मुख्यालय तहसील कार्यालय अमरवाड़ा रखा गया है तथा इन्हें नियमानुसार जीवन निर्वाह भत्ते की पात्रता रहेगी।

 

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री चौधरी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधानसभा क्षेत्र 123- अमरवाड़ा के मतदान केन्द्र क्रमांक-55 झिरना में प्राथमिक शाला झिरना के सहायक अध्यापक श्री मुरलीधर परतेती और मतदान केन्द्र क्रमांक-52 बेलपठार में प्राथमिक शाला बेलपठार के सहायक अध्यापक श्री कैलाश कुशवाह तथा विधानसभा क्षेत्र 122- जुन्नारदेव के मतदान केन्द्र क्रमांक-12 बम्हनी में प्राथमिक शाला बम्हनी के सहायक अध्यापक श्री सी.एल.उईके को बूथ लेबल अधिकारी नियुक्त कर 15 अप्रैल से डोर टू डोर सर्वे का कार्य करने के आदेश दिये गये थे, किन्तु तीनों बूथ लेबल अधिकारियों द्वारा उन्हें सौंपे गये दायित्व का भलीभांति निर्वहन नहीं कर कर्तव्य के प्रति लापरवाही बरती गई है, जो लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1950 की धारा 32 के विपरीत होने से तीनों सहायक अध्यापकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।