भोपाल/बीरबल सावित्री साहनी फाउंडेशन, लखनऊ द्वारा 2022 के लिए मानसरोवर ग्लोबल विश्वविद्यालय भोपाल के कुलपति प्रोफेसर अरुण पांडेय का अंतरराष्ट्रीय बीरबल साहनी सेंटेनरी मेडल के लिए चयन किया गया है। ज्‍यूरी के निर्णय की सूचना फाउंडेशन के सचिव ने एक पत्र के माध्यम से दी है। यह सम्मान वनस्पति विज्ञान के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए प्रदान किया जाता है। डॉ. बीरबल साहनी विश्वप्रसिद्ध पैलिओबॉटनिस्ट थे जिनके नाम पर बीरबल साहनी इंस्टिट्यूट ऑफ़ पलिओबॉटनी लखनऊ में स्थापित किया गया।

प्रोफेसर पांडेय ने विगत चार दशकों से भी ज्यादा समय पादप विज्ञान के विभिन्न  क्षेत्रों में शोध कार्य किया है और राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त की है। वनस्पतियों के वर्गीकरण, उनके नामकरण और संरक्षण के क्षेत्र में उनका विशेष योगदान है। डॉ पांडेय ने सात नए पौधों की खोज भी की है। 

डॉ. पांडेय को साहनी फाउंडेशन अगले माह मानसरोवर ग्लोबल विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित राष्ट्रीय फ़र्न सोसाइटी की कांफ्रेंस में सम्मानित करेगा। डॉ. पांडेय को साहनी फाउंडेशन द्वारा मेमेंटो के साथ प्रशस्ति-पत्र दिया जायेगा।